BJP के ‘चाणक्य’ अमित शाह अब जीत का मूलमंत्र सीखायेंगे

जयपुर। चाहे पिछला लोकसभा का चुनाव हो या राजस्थान का विधानसभा चुनाव, बीजेपी की प्रचंड जीत में सोशल मीडिया या कहे IT का अहम योगदान रहा। अगले चुनावों में भी IT की धार बरकरार रहे, इस दिशा में राजस्थान की बीजेपी लगातार नवाचारों में जुटी है।

चुनावों के मद्देनजर राजस्थान बीजेपी की IT टीम ने बहुत मेहनत से प्रदेशव्यापी टीम का गठन कर दिया है।

21 जुलाई को अमित शाह की क्लास में IT टीम की परीक्षा होगी।

राजमंदिर सिनेमाघर में शाह चुनावी मंत्र देंगे

बीजेपी सोशल मीडिया वॉलेंटियर्स में प्रदेश भर से करीब 2 हजार साईबर योद्धा भाग लेंगे। अब तक 1026 मंडलो में बीजेपी टीम IT का गठन किया जा चुका है। सभी जिला और विधानसभा स्तर पर नमो एप्प संयोजक बना दिये गये है। 6 संभागों और जिलों में कार्यशालाएं हो चुकी है, कांग्रेस के सोशल मीडिया के मुकाबले के लिये बीजेपी IT टीम पूरी तरह तैयार है। खास बात यह है कि खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे IT के काम की मॉनिटरिंग करती है।

21 जुलाई के दौरे के समय यह सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम होगा, इसमें शाह का राजस्थान बीजेपी के साईबर यौद्धाओं से सीधा संवाद होगा जो चुनावी साल में विरोधियों के साईबर प्रहारों का मुकाबला करने के लिये मैदान में उतर गये है। कार्यक्रम में आईटी विभाग के प्रदेश,जिला और मंडल स्तर के कार्यकर्ता भाग लेंगे। शाह के साथ ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, अविनाश राय खन्ना, वी सतीश, मदन लाल सैनी, चंद्रशेखर, अमित मालवीय समेत प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे।

बीजेपी IT टीम का मिशन 180:

-जिला स्तर पर हो चुके कार्यशालाओं के आयोजन
-फिर संभाग स्तर पर हो चुकी है कार्यशालाएं
-सभी मंडलो तक हो चुकी आईटी की पहुंच
-हर जिला-विधानसभा स्तर पर नम्मो एप्प संयोजक बना दिये गये
-हर जिला-मंडल-विधानसभा स्तर पर IT संयोजक बनाये गये
-प्रत्येक बूथ समिति में एक IT कार्यकर्ता का होना अनिवार्य है
-41 जिले,1026 मंडल, प्रत्येक विधानसभा तक पहुंच चुकी टीम
-करीब 50 हजार बूूथों तक IT का संयोजक
-जयपुर, जोधपुर, अजमेर, कोटा, भरतपुर, उदयपुर संभाग में हो चुकी कार्यशालाएं
-हर बूथ पर एक IT कार्यकर्ता अनिवार्य रुप से मौजूद है

क्या होगा अमित शाह का साईबर योद्धाओं को संदेश:

-साईबर योद्धाओं को देंगे चुनावी संदेश
– राजस्थान आईटी विभाग की रणनीति का जांचेगे
-मोदी-राजे फ्लेगशिप योजनाओं पर रखेंगे बात
-विरोधी दल का कैसे मुकाबला किया जाये यह बतायेंगे
-भ्रामक प्रचार से कैसे निबटना इस बारे में देंगे मंत्र
-चुनावी तौर पर सोशल मीडिया को कैसे सशक्त बनाये इस पर रहेगा फोकस
-बूथ स्तर पर सोशल मीडिया की पहुंच रहे यह होगा संदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *